भारत के पास विश्व की सबसे विस्तृत और विविधतापूर्ण शिक्षण-व्यवस्था है । निजीकरण के विस्तार, स्वायत्तता में बढ़ोतरी और नई उभरती हुई दिशाओं में पाठ्यक्रमों की शुरुआत ने उच्चतर शिक्षा की पहुँच का दायरा बढ़ाया दिया है । ठीक उसी अनुपात में उच्‍च शिक्षा की गुणवत्ता एवं प्रासंगिकता के प्रति भी चिन्ता बढ़ती गयी । इससे जुड़ी चिन्ताओं से जूझने के लिए ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति’ (रा.शि.नी. 1986) और क्रियात्मक योजना (क्रि.यो.1992) ने अपेक्षित नीतियाँ एवं योजनाएँ बनाने के लिए राष्ट्रीय स्तर की एक स्वतंत्र मूल्यांकन संस्था स्थापित करने की सलाह दी । इसके परिणाम स्वरूप सन् 1994 ई. में ‘विश्वविद्यालय अनुदान आयोग’ (यूजीसी) के स्वायत्त संस्थान के रूप में ‘राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद्’ (एन.ए.ए.सी.) की स्थापना की गयी, जिसका मुख्य कार्यालय बेंगलूरु में स्थित है । एन.ए.ए.सी. का महत्व उसके परिकल्पना वक्तव्य में प्रतिबिंबित होता है, जिसमें गुणवत्ता को उच्‍चतर शिक्षा संस्थानों के कार्यात्मक रूप से आंतरिक अंग सुनिश्चित करना माना गया है ।

एन.ए.ए.सी. अपना कार्य ‘प्रमुख परिषद’ (जीसी) और ‘कार्यकारी समिति’ (ईसी) के माध्यम से करता है, जिससे शिक्षा क्षेत्र के प्रशासक, नीति-निर्माता और भारत की शिक्षा व्यवस्था के विभिन्न भागों के अकादमिक व्यक्तित्व जुड़े होते हैं । यूजीसी के अध्यक्ष ही एन.ए.ए.सी. की सामान्य परिषद (जीसी) के अध्यक्ष होते हैं । कार्यकारी समिति के अध्यक्ष का चुनाव सामान्य परिषद (जीसी) के अध्यक्ष द्वारा मनोनित उत्कृष्ट आकदमिक व्यक्तित्व का किया जाता है । एन.ए.ए.सी. के निदेशक ही अकादमिक एवं प्रशासनिक प्रमुख और ईसी एवं जीसी के सदस्य-सचिव होते हैं । योजनाओं को क्रियान्वित करनेवाले वैधानिक निकायों और आन्तरिक कर्मचारियों के अतिरिक्त एन.ए.ए.सी. समय-समय पर स्थापित की जानेवाली सलाहकार और परामर्शदाता समितियों से दिशा-निर्देश प्राप्त करता है।

स्व और बाह्य गुणवत्ता मूल्यांकन, संवर्धन और संपोषण पहलुओं के संयोजन से गुणवत्ता को भारत में उच्चतर शिक्षा का निर्धारक त्तव बनाना।




 

घोषणाएँ

  1. Empanelment of Hindi Consultant (Contract basis)
  2. Revised Student Satisfaction Survey (SSS) poster on campus in HEIs
  3. Revised Timeline- Regarding extension of AQAR submission to NAAC up to 31-10-2020
  4. प्रत्यायन परिणाम - 11th March 2020
  5. Notification of Vacancy for the post of Deputy Adviser (on Deputation basis)
  6. Registration of HEI on NAAC portal
  7. न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अखिल भारतीय संस्करणों के समाचार पत्रों में एन.ए.ए.सी. के निदेशक के विशेष साक्षात्कार।

Read More

सूचनाएं

  1. Notification to all Higher Education Institutions-Academic Year 2019-2020 (Considering COVID 19 pandemic)
  2. Notification to all Higher Education Institutions-Extension of validity period of accreditation (Considering COVID 19 pandemic)
  3. Notification regarding draft revised AQAR guidelines of Health Sciene University, Health Science Colleges, Open University and Teacher Education Colleges
  4. Notification regarding draft revised AQAR guidelines of General Universities, Autonomous Colleges and Affiliated/Constituent Colleges
  5. Notification for email messages to registered users and survey attendees.

Read More

दिशा-निर्देश

  1. शिकायत निवारण के लिए दिशानिर्देश (अपील) और अपील के लिए आशय
  2. एन.ए.ए.सी. के ग्रंथमितीय डाटा सत्यापन कार्यविधि (विश्वविद्यालय तथा स्वायत्त महाविद्यालयों)।
  3. आई.क्यू.ए.सी. तथा ए.क्यू.ए.आर. की रचना हेतु नए दिशा-निर्देश ।
  4. अपीलों की कार्यविधि हेतु दिशा-निदेश ।
  5. वित्तीय सहायता के बिना संगोष्ठी के लिए शैक्षणिक सहयोग हेतु प्रक्रिया ।
  6. कार्यालय ज्ञापन – अधिकारियों तथा गैर-अधिकारियों / विशेषज्ञों के लिए टी.ए. तथा बैठक की देय शुल्क।
  7. “अनुचित मेट्रिक्स” से बाहर निकलने हेतु संस्थानों को दिशा-निर्देश
  8. एन.ए.ए.सी. के मूल्यांकन तथा प्रत्यायन प्रक्रिया के विषय में केंद्रीकृत शिकायत प्रबंधन समिति (सी.सी.एम.एस.) ।

लेखागार
पूछताछ
+91-80-23005100, 111
कॉल सेंटर / एफ एम सी
080- 23005200
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
मदत कक्ष
+91-080-23005192, 193
This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.
मदत कक्ष या कॉल सेंटर का समय
सुबह 09:15 से दोपहर 01:00 तथा दोपहर 01:30 से शाम 05:45, रविवार, शनिवार तथा सभी सरकारी छुट्टियों के अतिरिक्त
एन.ए.ए.सी दिल्ली कार्यालय
+91-11-23239332, 333, 340

This email address is being protected from spambots. You need JavaScript enabled to view it.